Bollywood Gossip: 

बॉलीवुड के ‘क्यूट कपल’ रितेश देशमुख और जेनिलिया डिसूज़ा से सीखिए हैप्पी मैरिड लाइफ के मंत्र

 
bollywood

बॉलीवुड प्यार करना सिखाता है, रिश्ते कैसे बनाये जाए, यह सिखाता है, इन रिश्तों को कैसे निभाया जाए यह भी सिखाता है। यह सब सीख हमें बॉलीवुड फिल्मों और सीरियल से मिलती हैं। कभी-कभी कई ऐसे एक्टर रियल में ऐसे काम कर जाते हैं कि हम उन्हें अपना आदर्श मानने लगते हैं। वैसे तो बॉलीवुड में कई सारे कपल हैं जिन्हें देख के लगता है कि शादीशुदा जिंदगी जन्नत होती हैं।

लेकिन जब बॉलीवुड के क्यूट कपल की बात आती है तो इसमें रितेश देशमुख और जेनेलिया डिसूजा का नाम आता है। दोनों की जोड़ी को देखकर उनपर बरबस प्यार आता है। दोनों न केवल एक अच्छे शादीशुदा कपल हैं बल्कि एक बहुत ही अच्छे माता-पिता भी हैं। दोनों की शादी को लगभग 8 साल हो चुके हैं। इस दौरान उन्होंने हमें प्रेरणा दी है कि कैसे एक शादीशुदा जिंदगी को जिया जाता है। आइये इसी के बारें में विस्तार से जानते हैं।

f

एक दूसरे के साथ को करें एन्जॉय
जब पति और पत्नी एक दुसरे के साथ में रहने पर उस पल को एन्जॉय करते हैं तो शादीशुदा जिंदगी अपने आप खुशनुमा हो जाती है। इस बारें में जेनेलिया कहती हैं कि जब तक आप एक दुसरे की कंपनी को नहीं एन्जॉय करोगे तब तक आप शादीशुदा लाइफ को खुशहाली से नहीं जी पायेंगे। साथ में रहने की ख़ुशी से आपके लिए आपका घर ही आपका हनीमून स्पॉट होगा।

l

हैप्पी वाईफ हैप्पी लाइफ


रितेश देशमुख का कहना है कि शादीशुदा जिंदगी को खुशहाल बनाने का एकमात्र तरीका है कि बीवी को खुश रखा जाए। जिसने भी बीवी को खुश रखने का तरीका जान लिया वह अपनी शादीशुदा लाइफ को हमेशा एन्जॉय करेगा। एक पति होने के नाते जब भी आप अपनी पत्नी को किसी दर्द या टेंशन में देखें तो उसकी मदद करें इससे वह खुश होगी और आपकी मैरिड लाइफ भी खुशहाल होगी।

k

एक दूसरे के साथ की कमी का हो एहसास


शादी दो शरीरों का मिलन होता है। अगर आप एक दूसरे के साथ की कमी को नहीं महसूस करोगे, तब आपके बीच में प्यार नहीं पनप पायेगा। रितेश ने अपने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था कि जब वह ‘तुझे मेरी कसम’ की शूटिंग कर रहे थे तो उन्हें जेनेलिया की कमी खलती थी। यही हाल जेनेलिया का भी था। दोनों एक दुसरे के पास न होने से एक दूसरे को मिस करते थे। यही से दोनों के प्यार की शुरुआत हुई। दोनों ने 10 साल दोस्त रहने के बाद शादी की।

l

केयरिंग है सबसे जरूरी


जब तक आप दूसरे का ख्याल रखना नहीं सीखेंगे तब तक आप एक अच्छे इंसान नहीं बन सकते हैं। शादीशुदा जिंदगी को अच्छी तरह से एन्जॉय करने के लिए केयरिंग बनना पड़ता है। जेनेलिया कहती हैं कि रितेश दुनिया के सबसे अच्छे पिता है। वे अपने बच्चों को बहुत प्यार करते हैं। वह मेरी भी बहुत केयर करते हैं। रितेश की यही आदत उन्हें सबसे अच्छा पिता और सबसे अच्छा पति बनाती हैं।

ससुराल वालों को दिल से अपनाएं


जेनेलिया कहती हैं कि जब एक परिवार आपको पूरे दिल से अपनाता है तो आपका भी यह फर्ज बन जाता है कि आप भी अपने ससुराल को पूरे दिल से अपनाएं। जेनेलिया अपने दिवंगत ससुर के जन्मदिन पर उन्हें श्रद्धांजलि देती रहती हैं। वह अपनी सास के साथ खुद की फोटो को सोशल मीडिया पर शेयर करती हैं।

एक दूसरे को अपनाएं

 
रितेश नए-नए शादीशुदा जोड़ों को टिप्स देते हुए कहते हैं कि शादी के बाद हमें अपनी सारी चीजें अपने पार्टनर के साथ शेयर करनी पड़ती है। रितेश बताते हैं कि उन्होंने अपनी शादी महाराष्ट्रियन रीति-रिवाज और क्रिश्चियन रीतिरिवाज से की थी। जेनेलिया क्रिश्चियन थी लेकिन शादी के बाद वह नए रीति-रिवाजों में ढल चुकी हैं। रितेश ने भी जेनेलिया के रीति-रिवाजों को अपना लिया है। इस वजह से दोनों एक हैप्पी मैरिड लाइफ जी रहे हैं।

From around the web