Relationship: अपने पार्टनर के मन की बात जानने के लिए पढ़ें ये 5 बातें

dfgd

हर कोई चाहता है कि उसका रिश्ता जितना हो सके उतना मजबूत हो। इसके लिए हम अपना सारा समय एक-दूसरे को ज्यादा से ज्यादा समय देते हुए, उनके लिए छोटी-छोटी चीजें करते हुए बिताते हैं। हालांकि, एक समय ऐसा आता है जब आप दोनों को लगता है कि आप कभी नहीं जान सकते कि मेरे दिमाग में क्या चल रहा है। कुछ लोग ऐसी शिकायतें मौखिक रूप से व्यक्त करते हैं, जबकि कुछ लोग बिना बोले ही अपनी शिकायतें व्यक्त करते हैं। इसलिए किसी भी रिश्ते में दूसरे व्यक्ति की भावनाओं को जानना बहुत जरूरी है। यह अनुमान लगाने में सक्षम होने के लिए कि आपके सामने वाला व्यक्ति अब क्या महसूस कर रहा है, उस व्यक्ति को जानना है। अब, यह भविष्यवाणी करने के लिए, आपको कुछ तार बनाने होंगे। अगर आप अपने जीवनसाथी की भावनात्मक स्थिति जानना चाहते हैं तो आपको पांच बातों का ध्यान रखना होगा। आइए देखें कि कैसे...

xsfsaf

1. शारीरिक हाव - भाव

अपने सामने वाले की बॉडी लैंग्वेज को पहचानना सीखें। उसकी आंखों के भाव, चेहरे के भाव, हावभाव और शरीर की मुद्रा पर एक नज़र डालें। इससे आपको व्यक्ति के मूड को समझने में मदद मिलेगी। बॉडी लैंग्वेज आपको यह समझने में मदद कर सकती है कि आपका जीवनसाथी क्या सोच रहा है और उसकी वर्तमान भावनाएँ क्या हो सकती हैं। तो अगर आपका पार्टनर ऊपर से मुस्कुरा रहा है लेकिन वह मुस्कान सच नहीं है तो आप उसे आसानी से पहचान सकते हैं। तो उस विशेष समय में आप अनुमान लगा सकते हैं कि आपको अपने जीवनसाथी के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए और आपस में बहस या झगड़ों की मात्रा को कम करना चाहिए।

2. आंखें पढ़ें

आपकी आंखें आपकी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए पर्याप्त अभिव्यंजक हैं। यदि आप उदास हैं, उदास हैं, तो यह एक भावना या बहुत खुशी की बात हो सकती है। या अब आप अपने साथी की बाहों में एक नस की तरह महसूस करते हैं, तो ये सभी भावनाएँ आपकी आँखों में दिखाई देती हैं। जब आप अपने साथी से मिलें, तो उसकी आँखों में देखने की कोशिश करें। उसकी आँखों के भाव आपको बहुत कुछ बताएंगे और आपका अगला संचार आसान हो जाएगा। चूंकि आंखें कभी झूठ नहीं बोलती हैं, यह विपरीत को समझने का एक महत्वपूर्ण साधन हो सकता है।

3. भाषा को समझें

जब किसी रिश्ते में हम एक-दूसरे से लगातार फोन पर बात करना या एक-दूसरे से मिलना पसंद करते हैं। Affiliate Business में सफल होने के लिए आपको भाग्य से अधिक की आवश्यकता होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बोलने से हम अपने सामने वाले व्यक्ति के स्वर को नोटिस करते हैं और इसलिए हम उसकी वर्तमान मनोदशा, भावनात्मक स्थिति का अनुमान लगा सकते हैं। अगर आपकी आवाज तेज और थोड़ी तेज है तो सामने वाला समझता है कि आप गुस्से में हैं, लेकिन अगर वही आवाज बहुत प्यारी है, तो यह पहचानना आसान है कि आपको प्यार हो गया है। आपका स्वर यह निर्धारित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है कि आप किसी चीज़ को लेकर कितने आश्वस्त हैं। इसलिए यदि आप अपने सामने आवाज के स्वर को सही तरीके से जानते हैं, तो आपके लिए यह समझना आसान हो जाएगा कि उस व्यक्ति के साथ कैसे व्यवहार किया जाए।

sfa

4. ऊर्जा पर ध्यान दें

अगर सामने वाला यह समझ जाए कि आपके पास कितनी ऊर्जा है, तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इससे कैसे निपटा जाए। आपकी ऊर्जा का स्तर आपके विचारों और इरादों पर निर्भर करता है। यदि आप किसी से बात कर रहे हैं, तो आपकी ऊर्जा आपको बताएगी कि क्या आप उसमें रुचि रखते हैं जिसके बारे में वह बात कर रहा है। जैसे-जैसे आपकी भावनात्मक और मानसिक स्थिति आपके सामने वाले व्यक्ति को प्रभावित करती है, उस व्यक्ति में कितनी ऊर्जा है यह पहचानने से आपके रिश्ते को मजबूत करने में मदद मिलेगी।

5. देखें कि सोच कैसी है

यदि आप नहीं जानते कि आपका जीवनसाथी अभी क्या सोच रहा है या क्या कर रहा है, तो उसकी सांसों पर पूरा ध्यान दें। इससे आपको उसकी भावनाओं को समझने में आसानी होगी। अगर आपका साथी तनाव में है, तो उसे सांस लेने में तकलीफ होगी। इसका मतलब है कि व्यक्ति जल्दी में सांस अंदर-बाहर कर रहा होगा। याद रखें कि आप उस व्यक्ति को यह नहीं बताना चाहते कि आप किस बारे में तनावग्रस्त हैं। यह भी ध्यान रखना चाहिए कि अगर सामने वाला व्यक्ति बहुत शांत है, तो वह बहुत अच्छी तरह से सांस ले रहा है।

From around the web